Home Jobs 30% of the total marks of three best subjects of class 10th...

30% of the total marks of three best subjects of class 10th and theory of all subjects of class 11th will be taken; Those who don’t like can also give exam | रिजल्ट के लिए 10वीं के 3 बेस्ट सब्जेक्ट और 11वीं के सभी सब्जेक्ट की थ्योरी को 30-30% देंगे; 40% बारहवींं की इंटरनल एक्जाम से

51
0


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • 30% Of The Whole Marks Of Three Finest Topics Of Class 10th And Concept Of All Topics Of Class 11th Will Be Taken; These Who Do not Like Can Additionally Give Examination

भोपालthree मिनट पहले

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने गुरुवार को 12वीं का रिजल्ट तैयार करने के लिए फॉर्मूले तय कर दिया है। इस हिसाब से रिजल्ट 30:30:40 के फॉर्मूले पर तय किया गया है। यह पूरा फार्मूला किस तरह होगा दैनिक भास्कर के लिए एजुकेशन एक्सपर्ट ललित सरदाना (स्टडी अड्‌डा) ने समझाया कि इसी फार्मूला के आधार पर छात्र खुद ही अपने रिजल्ट को तैयार कर सकता है।

10वीं के सबसे ज्यादा अंक वाले तीन विषय चुने जाएंगे

10वीं में सबसे ज्यादा अंक वाले तीन विषय लिए जाएंगे। इन तीनों के अंक को जोड़कर उसका 30% निकाला जाएगा। उस 30% को अंक में कन्वर्ट कर उसे पांचों विषय में जोड़ दिया जाएगा। इसमें सिर्फ थ्योरी के ही अंक लिए जाएंगे।

11वीं के सभी विषयों का 30%

11वीं के सभी 5 विषयों के मैन परीक्षा के परिणाम के कुल अंक का 30% लिया जाएगा। यह भी आंकलन थ्योरी में मिले अंकों का ही होगा।

12वीं में 40% लिया जाएगा

12वीं क्लास के इंटरनल मार्क, यूनिट और टर्म में जो सर्वश्रेष्ठ के अंकों को जोड़कर उसका 40% निकाला जाएगा। तीनों ही स्तर पर निकले मार्क को जोड़कर 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट तैयार होगा। क्योंकि प्रैक्टीकल के मार्क पहले ही बोर्ड को दीजाए गए हैं। इसलिए वह मार्क रिजल्ट में जुड़ जाएंगे।

स्कूल संचालकों ने कहा- छात्रों के पास परीक्षा का भी विकल्प

– भोपाल के डीपीएस स्कूल्स के डायरेक्टर धरम वर्मा ने बताया कि जो छात्र इस तरह के फार्मूला से बने रिजल्ट से खुश नहीं हैं, वे कोरोना के बाद स्कूल खुलने पर होने वाली 12वीं परीक्षा में शामिल होकर परीक्षा दे सकते हैं। इसके अलावा हर स्कूल में 5 शिक्षकों की टीम बनाई जाएगी। यही टीम बच्चों का रिजल्ट तैयार करेगी। सबसे बड़ी बात दूसरे बोर्ड से CBSE या दूसरे राज्य से ट्रांसर्फर होकर आने वाले छात्रों के मार्क उनके बोर्ड की मार्कसीट के अंकर के आधार पर आंकलन किया जाएगा। इसमें संबंधित स्कूल को CBSE की वेबसाइट पर उसे अपलोड करना होगा।

– ग्रुप डायरेक्टर आईईएस पब्लिक स्कूल भोपाल और सीहोर की प्रोफेसर मनीषा कवठेकर ने बताया कि छात्र खुद ही घर पर ही इस फार्मूला के तहत रिजल्ट तैयार कर सकते हैं।

.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here