Home Uncategorized Bihar Board Matric Result 2021; Simultala Awasiya Vidyalaya Jamui Students performance in...

Bihar Board Matric Result 2021; Simultala Awasiya Vidyalaya Jamui Students performance in BSEB 10th Result 2021 Latest News Updates | खराब प्रदर्शन को सुधार टॉप-10 में 13 स्टूडेंट दिए, 2015 से टॉपर देता आया है CM का यह ड्रीम प्रोजेक्ट

84
0

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Board Matric Result 2021; Simultala Awasiya Vidyalaya Jamui Students Performance In BSEB 10th Result 2021 Latest News Updates

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना3 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • 2010 में CM नीतीश के ड्रीम प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू हुआ था यह विद्यालय

बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में इसबार भी जमुई के सिमुलतला विद्यालय ने टॉपर दिया है। सिमुलतला की पूजा कुमारी और शुभदर्शिनी स्टेट टॉपर हुई है। वर्ष 2015 से सिमुलतला आवासीय विद्यालय के बच्चों ने बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में शामिल होना शुरू किया। पहले ही वर्ष से इस स्कूल ने टॉपर्स देने की जो रफ्तार पकड़ी, उससे इसे टॉपर्स की फैक्ट्री के रूप में जाना जाने लगा। 2010 में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू हुए इस आवासीय विद्यालय ने मेधावी छात्रों की लंबी फेहरिस्त खड़ी कर दी।

रिजल्ट जारी होने के बाद खुशी मनाते सिमुलतला स्कूल के शिक्षक।

रिजल्ट जारी होने के बाद खुशी मनाते सिमुलतला स्कूल के शिक्षक।

दो बार टॉपर्स की हैट्रिक से चूका विद्यालय
सिमुलतला आवासीय विद्यालय का प्रदर्शन वर्ष 2017 में बेहतर नहीं रहा। 2015-16 में लगातार टॉपर देने का क्रम 2017 में टूट गया। हालांकि वर्ष 2018-19 में फिर अपना प्रदर्शन सुधारते हुए सिमुलतला से लगातार 2 साल तक टॉपर निकले। पिछले साल खराब प्रदर्शन के कारण सिमुलतला फिर टॉपर्स की हैट्रिक लगाने से चूक गया। पिछले साल टॉप-10 की सूची में सिमुलतला के 10 प्रतिशत से भी कम बच्चे रहे।

कोरोना के बीच एग्जाम, 40 दिन के भीतर ही रिजल्ट

BSEB ने मैट्रिक की परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है। इस बार 78.17 प्रतिशत परीक्षार्थी पास हुए हैं। जमुई की पूजा और रोहतास संदीप टॉपर हुए हैं। टॉप 10 में सिमुलतला के 13 छात्र हैं। इस बार 16.84 लाख परीक्षार्थियों ने मैट्रिक की परीक्षा दी थी। कोरोना के बीच एग्जाम कराना BSEB के लिए बड़ी चुनौती थी, लेकिन 40 दिन के भीतर ही बोर्ड ने रिजल्ट देकर नया इतिहास रच दिया है। मैट्रिक की परीक्षा के लिए प्रदेश में 1525 सेंटर बनाए गए थे, जहां 17 से 24 फरवरी तक परीक्षा हुई थी। इंटरमीडिएट की तरह मैट्रिक परीक्षा में भी परिणाम घोषित करने में हर स्तर से तेजी दिखाई गई।

खबरें और भी हैं…

.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here