Home Jobs CBSE 12th Board 2021 Assessment Scheme| CBSE is deciding the assessment criteria...

CBSE 12th Board 2021 Assessment Scheme| CBSE is deciding the assessment criteria for the 12th class result, the board said that it will be released in the public domain soon | रिजल्ट के लिए असेसमेंट क्राइटेरिया तय कर रहा CBSE, बोर्ड ने कहा पब्लिक डोमेन में जल्द होगा जारी

22
0

  • Hindi News
  • Career
  • CBSE 12th Board 2021 Evaluation Scheme| CBSE Is Deciding The Evaluation Standards For The 12th Class End result, The Board Mentioned That It Will Be Launched In The Public Area Quickly

three मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
clipboard 1 1622700069

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) की 12वीं की परीक्षा रद्द होने के बाद से ही स्टूडेंट्स और पेरेंट्स के मन में रिजल्ट के असेसमेंट क्राइटेरिया को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं। ऐसे में बोर्ड ने स्टूडेंट्स और पेरेंट्स की परेशानी खत्म करते हुए जानकारी दी है कि असेसमेंट क्राइटेरिया तैयार करने की प्रक्रिया जारी है। इसके पूरा होते ही इसे पब्लिक डोमेन में जारी किया जाएगा।

1 जून को रद्द हुई 12वीं की परीक्षा

इस बारे में CBSE के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने कहा कि पेरेंट्स,टीचर्स, प्रिंसिपल और स्टूडेंट्स को इसके लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। इसके साथ ही उन्होंने सभी से अनुरोध किया कि वे घबराएं नहीं। CBSE ने मंगलवार को 1 जून को प्रधानमंत्री के साथ हुई एक हाईलेवल मीटिंग में मौजूदा हालात के चलते 12वीं की परीक्षा रद्द करने का फैसला किया था।

अन्य राज्य बोर्ड ने भी स्थगित किए एग्जाम

CBSE की 12वीं की परीक्षाओं के रद्द होने के बाद कई राज्य सरकारों ने 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं कर दी है। इन राज्यों में हरियाणा, गुजरात, मध्य प्रदेश और उत्तराखंड शामिल हैं। जबकि कर्नाटक और यूपी भी जल्द ही परीक्षाओं पर अंतिम फैसला ले सकते हैं।

वहीं, महाराष्ट्र की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि 12वीं की राज्य बोर्ड परीक्षाओं को लेकर आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को प्रस्ताव भेजा गया है। इस पर बैठक कर एक-दो दिन में फैसला लिया जाएगा।

बच्चों की सुरक्षा बेहद जरूरीः पीएम

CBSE की 12वीं की परीक्षा रद्द करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि अभी स्टूडेंट्स की सुरक्षा हमारे लिए ज्यादा जरूरी है। ऐसे माहौल में उन्हें परीक्षा का तनाव देना ठीक नहीं है। हम उनकी जान खतरे में नहीं डाल सकते। यह फैसला छात्रों के हितों को ध्यान में रखकर लिया गया है।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here