Home Uncategorized CBSE 12th Board Exam Postponed| What will be the effect of delay...

CBSE 12th Board Exam Postponed| What will be the effect of delay in exam on competitive exam and admission process, know what experts say | परीक्षा में देरी का कॉम्पिटिटिव एग्जाम और एडमिशन प्रोसेस पर क्या होगा असर, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट

51
0

  • Hindi News
  • Career
  • CBSE 12th Board Exam Postponed| What Will Be The Effect Of Delay In Exam On Competitive Exam And Admission Process, Know What Experts Say

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कुछ ही क्षण पहले

  • कॉपी लिंक

लाखों स्टूडेंट्स- पेरेंट्स की मांग और कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार ने 12वीं की परीक्षाएं फिलहाल टाल दी हैं। अब इन परीक्षाओं पर 1 जून को रिव्यू मीटिंग के बाद फैसला होगा। इस साल CBSE की परीक्षा में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स के लिए यह फैसला काफी अहम है। ऐसे में एक्सपर्ट से जानते हैं 12वीं की परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स को इस फैसले के बाद किन चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है-

परीक्षा में देरी का एडमिशन प्रोसेस और प्रतियोगी परीक्षाओं पर क्या असर पड़ेगा?

एक्सपर्ट ध्रूव बैनर्जी के मुताबिक आम तौर पर 1 जुलाई से पढ़ाई का नया सेशन शुरू हो जाता है। लेकिन, इस बार परीक्षा जुलाई तक आयोजित हो सकती है। ऐसे में एडमिशन प्रोसेस और एकेडमिक सेशन एक-दो महीने की देरी के साथ शुरू होगा।

वहीं, कॉम्पिटिटिव एग्जाम की बात करें तो करियर काउंसलर जितिन चावला बताते है कि परीक्षा स्थगित होने का कोई खास असर नहीं पड़ेगा। क्योंकि कई एंट्रेंस एग्जाम जैसे लॉ,मैनेजमेंट, होटल मैनेजमेंट आदि भी हैं, जिसमें बोर्ड परीक्षा जरूरी नहीं होती।

जून में रिव्यू मीटिंग होनी है, तब भी हालात नहीं सुधरे तो क्या इन्हें और ज्यादा टाला जाएगा?

एक्सपर्ट कहते हैं कि 1 जून को परीक्षा कराने के लिए रिव्यू होगा, तो 15 जून के बाद ही पेपर होंगे। अगर तब भी हालात नहीं सुधरते है तो यह परीक्षाएं आगे भी टाली जाएगी। जिसके बाद इन्हें जुलाई तक आयोजित किया जाएगा।

सरकार ने ऑनलाइन को अभी विकल्प नहीं माना है, अगर स्थितियां बिगड़ती ही जाती हैं तो क्या इसे अपनाया जाएगा?

वहीं, ऑनलाइन परीक्षा के बारे में करियर काउंसलर जितिन चावला ने बताया कि हालात बिगड़ने पर परीक्षाएं ऑनलाइन ही होगी। क्योंकि फिलहाल देश से ना तो कोरोना जाते हुए दिख रहा है और ना ही अभी वैक्सीनेशन पूरा हुआ है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि ऑनलाइन परीक्षा को बहुत वेल्यूएबल नहीं माना जाएगा।

एक्सपर्ट ध्रूव बैनर्जी के मुताबिक यह परीक्षा ऑफलाइन परीक्षा के मुकाबले वेल्यूएबल नहीं होगी। क्योंकि ऑफलाइन परीक्षा ऑब्जेक्टिव बेस्ड होती है, ऐसे स्टूडेंट्स ने ऑफलाइन परीक्षा का तैयारी की है, ऐसे में अचानक ऑनलाइन परीक्षा का फैसला होने पर उन्हें कुछ दिक्कतें जरूर होंगी। अगर ऑनलाइन परीक्षा होती है तो इसमें क्वेश्चन पेपर बहुत ही आसान होंगे।

कब होंगे एग्जाम पता नहीं है, ऐसे में कमिटमेंट कैसे बनाए रखें

वहीं, परीक्षा स्थगित होने पर एक्सपर्ट और करियर काउंसलर दोनों ने ही स्टूडेंट्स प्रतियोगी परीक्षा पर फोकस करने की सलाह दी हैं। उनके मुताबिक अगर बोर्ड परीक्षा स्थगित हो भी गई है तो 12वीं के स्टूडेंट्स के पास अब आने वाले दिनों में होने वाली JEE परीक्षा की तैयारी करने का अच्छा मौका है। ऐसे जब तक बोर्ड परीक्षा का तारीख तय नहीं होती तब तक स्टूडेंट्स JEE, NEET समेत अन्य कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं…

.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here