Home Jobs CG board 10th examination consequence; Outcomes launched with out written examination for...

CG board 10th examination consequence; Outcomes launched with out written examination for the primary time, no failures, 97 % kids handed the primary class | 10वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम में कोई फेल नहीं हुआ, बिना लिखित परीक्षा के जारी हुआ रिजल्ट, 97% बच्चे फर्स्ट डिवीजन

25
0

  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • CG Board 10th Examination Consequence; Outcomes Launched With out Written Examination For The First Time, No Failures, 97 % Kids Handed The First Class

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुरएक घंटा पहले

100 1621409994

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने बुधवार सुबह 10वीं बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया। ऐसा पहली बार हुआ है जब बोर्ड ने बिना लिखित परीक्षा कराए रिजल्ट जारी किए हैं। इंटरनल असेसमेंट (आंतरिक मूल्यांकन) के आधार पर इसे तैयार किया गया। इसमें कोई स्टूडेंट फेल नहीं हुआ। वहीं, 97% बच्चे फर्स्ट डिवीजन में पास हुए।

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉक्टर प्रेमसाय सिंह टेकाम ने बताया, इस परीक्षा में कुल Four लाख 61 हजार 93 बच्चों का इंटरनल असेसमेंट किया गया था। जिन बच्चों ने असाइनमेंट जमा नहीं किया था, उनको भी मिनिमम मार्क्स देकर पास कर दिया गया है। इनमें से Four लाख 46 हजार 393 स्टूडेंट फर्स्ट डिवीजन में पास हुए हैं। यह कुल स्टूडेंट्स का 97% है। 9 हजार 24 विद्यार्थियों की सेकंड डिवीजन आई। वहीं 5,0673 थर्ड डिवीजन में पास हुए।

स्कूल शिक्षा मंत्री ने बताया, लिखित परीक्षा नहीं होने से इस बार बोर्ड मेरिट लिस्ट जारी नहीं की जा रही। रिजल्ट छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की वेबसाइट cgbse.nic.in पर देखा जा सकता है। इससे मार्कशीट की कॉपी भी डाउनलोड की जा सकती है।

10 1 1621410285

जो नंबरों से संतुष्ट नहीं हैं उन्हें परीक्षा देनी होगी
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा, इस बार इंटरनल असेसमेंट के आधार पर रिजल्ट जारी किया गया है, ऐसे में फिर से रीटोटलिंग और रीचेकिंग नहीं की जाएगी। जो स्टूडेंट अपने नंबरों से संतुष्ट नहीं हैं उन्हें परीक्षा का मौका दिया जाएगा।

4,686 प्राइवेट स्टूडेंटस् भी पास
बताया गया कि इस बार 4,686 स्टूडेंट्स प्राइवेट थे। उनमें से सभी पास हो गए हैं। बोर्ड ने 6,168 स्टूडेंट्स के परीक्षा फार्म रिजेक्ट कर दिया थे। ऐसे में वे इस परीक्षा में शामिल नहीं माने गए।

51% लड़कियां पास हुईं
माध्यमिक शिक्षा मंडल के मुताबिक इस परीक्षा में 2 लाख 31 हजार 999 लड़कियां पास हुई हैं। यह कुल स्टूडेंट्स का करीब करीब 51% है। इनमें भी 98% फर्स्ट डिवीजन में और 1.30% सेकंड डिवीजन में पास हुई हैं।

पिछली बार से ज्यादा स्टूडेंट्स थे
कोरोना संकट के बीच इस साल हाईस्कूल में पिछले साल से अधिक स्टूडेंट्स थे। 2020 में three लाख 87 हजार बच्चों ने 10वीं की परीक्षा थी। इस बार यह संख्या बढ़कर Four लाख 61 हजार से अधिक हो गई। पिछली बार 10वीं का रिजल्ट 73% था, इस बार यह बढ़कर 100% हो गया है।

.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here