Home Jobs If students get the right guide in career, then the path of...

If students get the right guide in career, then the path of life becomes easier, the counselor of Sam Global University said – take the right decision at the right time | करियर में अगर छात्रों को सही मार्गदर्शक मिल जाए तो जीवन की राह आसान हो जाती है, सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी के काउंसलर बोले- सही समय पर सही फैसला लें

10
0

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • If College students Get The Proper Information In Profession, Then The Path Of Life Turns into Simpler, The Counselor Of Sam International College Mentioned Take The Proper Choice At The Proper Time

भोपालFour मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी। - Dainik Bhaskar

सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी।

अपने करियर में अगर विद्यार्थियों को सही दिशा दिखाने वाला मार्गदर्शक मिल जाए तो जीवन की राह आसान हो जाती है। इसीलिए हर छात्र को अपने जीवन में एक काउंसलर की आवश्यकता अवश्य पड़ती है। काउंसलिंग क्या है और ये विद्यार्थियों के लिए क्यों ज़रूरी है। इस बारे में हमें बता रहे हैं सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी के काउंसलर देवेंद्र रेवाड़ीकर सर।

1. आपकी नज़र में शिक्षा के क्षेत्र में काउंसलिंग का क्या महत्व है?
उत्तर- काउंसलिंग का मतलब ही छात्रों को शैक्षिक योजनाओं, उपयुक्त पाठ्यक्रमों, कॉलेज के विषय में सलाह और मार्गदर्शन प्रदान करना है। इसलिए शिक्षा के क्षेत्र में काउंसलिंग का छात्रों के करियर को सही दिशा देने में विशेष महत्व हैं।

2. यूजी और पीजी के छात्रों की काउंसलिंग करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ?
उत्तर- देखिए, यूजी और पीजी के विद्यार्थियों की मानसिकता बहुत अलग होती है, यूजी के बच्चे वह हैं, जो बस अभी स्कूल से निकले हैं, उन्हें काउंसलर से अपने लिए सबसे सरल शब्दों और ढंग में बेहतर कोर्स और कॉलेज, यूनिवर्सिटी चुनने में मार्गदर्शन चाहिए होता है। पीजी के छात्र वह हैं, जो ग्रेजुएशन डिग्री लेकर अब अपने लिए स्पेशलाइजेशन की तलाश में है। वे अब जानना चाहते हैं कि उन्हें अपने पसंदीदा क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कौन से कोर्स का चयन करें। दोनों वर्गों के विद्यार्थियों की ज़रूरतों को ध्यान में रख कर ही हम उनकी काउंसलिंग करते हैं।

3. ग्रेजुएशन किस विषय के साथ करें, जो एक बेहतर करियर दे सके?
उत्तर- ग्रेजुएशन किस विषय में करना है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि बच्चे की रूचि किस क्षेत्र में हैं, फिर भी कोर्सेज, जो बेहतर करियर विकल्प हैं, वे हैं- मेडिकल, नर्सिंग, पैरामेडिकल, फार्मेसी, प्रबंधन, एग्रीकल्चर, मास-कम्युनिकेशन, इंजीनियरिंग, कंप्यूटर एप्लीकेशन, वेब डिज़ाइनिंग, फाइनेंस आदि।

4. क्या बीटेक करना आज भी उतना ही सही है। जितना एक दशक पहले हुआ करता था?
उत्तर- जी, बिल्कुल। बीटेक या बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी आज भी उतना ही सुनहरा करियर क्षेत्र है, जितना पहले था। देश के प्रगति पथ पर एक इंजीनियर की आवश्यकता हर मोड़ पर रहेगी। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस इंजीनियरिंग क्षेत्र का चयन करते हैं, जैसे मैकेनिकल, सिविल और कंप्यूटर विज्ञान, सूचना प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग आप प्रत्येक क्षेत्र में बेहतर रोजगार के अवसर प्राप्त कर सकते हैं।

5. राजनीति में करियर क्या एक बेहतर विकल्प हो सकता है?
उत्तर- जी, ज़रूर। वे सभी युवा जो समाज और देश की दशा की दिशा बदलना चाहते हैं, उनके लिए राजनीति एक अच्छा करियर साबित हो सकता है। अगर राजनीति में रोजगार के अवसर की बात की जाए तो लोकसभा और राज्यसभा, विभिन्न राज्यों के लिए विधायक, विधान परिषद और ग्राम सभा या स्थानीय निकायों में प्रधानी (मुखिया), वार्ड पार्षद, जिला परिषद, नगर निगम/परिषद मिलाकर देशभर में लाखों पद हैं। इन पदों पर कार्य करके युवा अपना और देश का भविष्य बदल सकते हैं।

फीचर आर्टिकल:MP में सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी छात्रों की पहली पसंद, डायरेक्टर बोलीं- हम छात्रों को सुनहरे भविष्य के सपने नहीं दिखाता बल्कि सपनों को सच करने के लिए तैयार करते हैं

6. प्रशासनिक सेवा में जाने के लिए किस तरह से तैयारी करनी चाहिए?
उत्तर- प्रशासनिक सेवा एक नौकरी से कहीं बढ़कर एक अवसर है। जिसमें समाज कल्याण की अपार संभावनाए हैं। प्रशासनिक सेवा में करियर बनाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण ये है कि आप दृढ़निश्चय रहें। अगर आप पहली बार में इस परीक्षा में सफल नहीं हुए हैं, तो कोई और करियर विकल्प तलाशने के बजाय और बेहतर तैयारी के साथ फिर प्रयास करें। IAS परीक्षा के लिए आधारभूत शैक्षणिक योग्यता स्नातक है और IAS परीक्षा में विभिन्न वैकल्पिक विषय उपलब्ध है। यहां हम बताना चाहते हैं कि सैम में विद्यार्थियों को प्रशासनिक सेवा की तैयारी करवाई जाती है, साथ ही दूसरे प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए भी फैकल्टी उन्हें मार्गदर्शन प्रदान करती है।

7. खुद को कौन से क्षेत्र में रुचि है ये कैसे जाने ?
उत्तर- यह सवाल लगभग हर बच्चे के मन में जरूर आता है। इसके लिए सबसे महत्पूर्ण यह जानना है कि आपको अपना समय किन कार्यों में व्यतीत करना अच्छा लगता है, कौन से क्षेत्र के लोगों के बारे में जानना अच्छा लगता है, इन जैसे और भी कई प्रश्नों के उत्तर जब काउंसलर आपसे पूछते हैं तो अपने आप ही बच्चों को उनके इस प्रश्न का उत्तर मिल जाता है। इसके अलावा इस बात को भी तय करने की कोशिश करें कि आज से 10 साल बाद आप किस जगह काम करना चाहेंगे? किस तरह के माहौल में काम करना पसंद करेंगे? इन प्रश्नों का उत्तर विस्तार से सोचें और उससे सबंधित करियर ऑप्शन की लिस्ट बनाएं और फिर अपने करियर और कोर्स को सेलेक्ट करें। ऐसा करने से आप स्वतः ही अपनी रूचि जान जाएंगे। जिस क्षेत्र में आपकी रुचि होगी, उस क्षेत्र में आप करियर के तौर पर बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे।

8. मौजूदा दौर में बच्चें खुद को सकारात्मक कैसे रखें?
उत्तर- मौजूदा दौर सभी के लिए मुश्किल है, मगर हां, विद्यार्धी वर्ग इससे ज़्यादा ही प्रभावित हुआ है। ऐसे में बच्चें अपने आप को सकारात्मक रखने के लिए अपने कोर्स से अलग मोटिवेशनल पुस्तकें जैसे द अलकेमिस्ट, द सीक्रेट, यू कैन विन, आदि पढ़ें, अच्छे विषयों पर वेबिनार में हिस्सा लें, अपने परिवार और दोस्तों से अपने विचार साझा करें, कुछ फिल्में देखें, गेम्स खेलें और विश्वास करें कि बुरा वक़्त कैसा भी हो बदलता ज़रूर है।

खबरें और भी हैं…

.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here