Home Jobs The school operator said – 12th results decide the future of the...

The school operator said – 12th results decide the future of the child, the expert said – do not worry, children should start preparing for further | एक्सपर्ट बोले- पिछले 2 से 3 साल की परीक्षाओं के मार्क्स और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर बनेगा रिजल्ट; खुद को पास मान लें स्टूडेंट्स

21
0

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • The College Operator Stated 12th Outcomes Determine The Future Of The Youngster, The Knowledgeable Stated Do Not Fear, Youngsters Ought to Begin Getting ready For Additional

इंदौरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
12 1622635380

CBSE के बाद शिवराज सरकार ने 12वीं एमपी बोर्ड एग्जाम रद्द कर दी। यह तय हो गया है कि एमपी बोर्ड में भी बारहवीं का कोई स्टूडेंट फेल नहीं होगा। पर नतीजे तैयार कैसे होंगे, इसे लेकर भास्कर ने एक्सपर्ट्स से बात की।

उनका कहना है कि मध्यप्रदेश में रिजल्ट के लिए आंतरिक मूल्यांकन के साथ 10वीं या पिछली तीन परीक्षाओं के नतीजों को आधार बनाया जा सकता है। 10वीं में जिस तरह से परीक्षा निरस्त होने पर तिमाही, छमाही और सालाना प्रोजेक्ट के अंकों को आधार बनाकर रिजल्ट तैयार कराया, उसी तरह 12वीं में रिजल्ट बनाने पर विचार हो रहा है।

यह हो सकते हैं रिजल्ट तैयार करने के तरीके

  • नौवीं, 10वीं और 11वीं के वार्षिक अंकों के आधार पर 12वीं का रिजल्ट बन सकता है।
  • दसवीं के साथ 12वीं की त्रैमासिक और अर्द्ध वार्षिक परीक्षा के प्रदर्शन के आधार पर।
  • इस साल जो परीक्षा दी हैं, उसमें त्रैमासिक, अर्द्धवार्षिक परीक्षा के नतीजे के आधार पर।

डेटा का सोर्स पिछली परीक्षाएं ही रहेंगी : एक्सपर्ट

एजुकेशन एक्सपर्ट डाॅ. अवनीश पाण्डेय कहते हैं कि परीक्षा रद्द कर स्टूडेंट्स की पास-फेल की दुविधा खत्म हो गई। खुद को पास मानते हुए आगे की तैयारी में लग जाना चाहिए। 12वीं में उन्हें जो अंक मिलने वाले हैं, वे पिछली परीक्षा और टीचर के आंकलन के आधार पर मिलेंगे। तरीके अलग हो सकते हैं पर डेटा का सोर्स यही रहेगा।

एमपी 12वीं बोर्ड परीक्षा भी रद्द:CBSE के बाद शिवराज सरकार का फैसला; मंत्री समूह ढूंढ़ेगा रिजल्ट तैयार करने का तरीका

नरेंद्र जैन, डाॅ. अवनीश पाण्डेय और राम मोहन तिवारी।

नरेंद्र जैन, डाॅ. अवनीश पाण्डेय और राम मोहन तिवारी।

भास्कर एक्सपर्ट पैनल :

राम मोहन तिवारी: संयुक्त संचालक लोक शिक्षण, जबलपुर

नरेंद्र जैन: एडीपीसी डीईओ कार्यालय, इंदौर

डाॅ. अवनीश पाण्डेय: एजुकेशन एक्सपर्ट, इंदौर

खबरें और भी हैं…

.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here