Home Jobs You can apply again for re-totaling from today; RPSC gave chance to...

You can apply again for re-totaling from today; RPSC gave chance to the candidates who failed in the main exam, June 24 last date | री-टोटलिंग के लिए आज से फिर कर सकते हैं आवेदन; मुख्य परीक्षा में असफल रहे अभ्यर्थियों को RPSC ने दिया मौका, 24 जून लास्ट डेट

44
0

  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • You Can Apply Once more For Re totaling From At the moment; RPSC Gave Probability To The Candidates Who Failed In The Essential Examination, June 24 Final Date

अजमेर7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
RPSC - Dainik Bhaskar

RPSC

राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा कोराेना काल को देखते हुए सहायक अभियन्ता (सिविल/विद्युत/यांत्रिकी) प्रतियोगी परीक्षा 2018 की मुख्य परीक्षा में असफल रहे अभ्यर्थियों को प्राप्तांक के री टोटलिंग के लिए एक और अवसर दिया है। इसके लिए मंगलवार से ऑफ लाइन आवेदन किए जा सकते है। इसकी अंतिम तिथि 24 जून रखी गई है।

आयोग सचिव शुभम चौधरी के अनुसार, AEN मुख्य परीक्षा 2018 का परिणाम four मार्च 2021 को जारी किया गया था। इस परिणाम में असफल अभ्यर्थियों को नियमानुसार परीक्षा में प्राप्तांकों की पुनःगणना (रीटोटलिंग) कराने के लिए आयोग द्वारा पूर्व में 7 से 27 अप्रेल 2021 तक उत्तर पुस्तिकाओं में प्राप्त अंकों की पुनःगणना (रीटोटलिंग) के लिए सादा कागज पर प्रार्थना पत्र मांगे गए थे।

कोविड-19 महामारी के कारण राज्य सरकार द्वारा 17 अप्रेल 2021 से 1 जून 2021 तक लाॅकडाउन लगा दिया गया था, इसको मध्यनजर रखते हुए आयोग द्वारा 15 जून से 24 जून 2021 तक (10 दिवस) का समय निम्न शर्तो के साथ पुनः प्रदान किया जाता है।

  • -उत्तर पुस्तिकाओं में प्राप्त अंकों की पुनःगणना (रीटोटलिंग) के लिए सादा कागज पर प्रार्थना पत्र देना होगा।
  • वेबसाइट से प्राप्ताकों की प्रिन्ट कापी के साथ आयोग के सचिव को 25 रुपए प्रति प्रश्न पत्र की दर से भारतीय पोस्टल आर्डर संलग्न करना होगा।
  • प्रार्थना पत्र में पुनर्गणना के विषयों का स्पष्ट उल्लेख करने के साथ जितने प्रश्न पत्रों में पुनर्गणना करवाई जानी उसी अनुरूप शुल्क प्रस्तुत करना होगा।
  • अंतिम तिथि 24 जून 2021 के पश्चात प्राप्त होने वाले प्रार्थना पत्र स्वीकार नहीं किए जाएंगे।
  • उत्तर पुस्तिकाओं का पुनःपरीक्षण Re-Analysis किसी भी परिस्थिति में नहीं किया जाएगा।

खबरें और भी हैं…

.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here